"आठ चालीस की पसैंजर अभी बाकी है"

"आठ चालीस की पसैंजर अभी बाकी है"

***राजीव तनेजा***



छाया है अब नूतन हर्ष
बीत गया जो पिछला वर्ष
खाली हुए हैँ पैमाने कई
बिखरी पडी हैँ बोतलें सही
टूटा नहीं है उन्मादी नशा
सांप्रदायिक सरूर अभी बाकी है


चाँद छुप गया
सूरज सर पे है आ खडा
फिज़ा में ठिठुरती ठण्डक
माहौल में कसैली कडवाहट
लहू में खून खौलती गर्मी अभी बाकी है


पा लिया...कर दिया
भाजपामय गुजरात और हिमाचल
संपूर्ण भारत की चाह अभी बाकी है
फिरंगी पंजा दिखा मनमोह
काबू कर लिया केन्द्र
अखण्ड इंडिया की लगाम अभी बाकी है


तोड के सारे कायदे औ नियम
लगा कर आपातकाल
बुझा दिया चिराग ए बेनज़ीर
चाहत ए कत्लेआम अभी बाकी है


खा ली कई बार मुँह की
क्या चाहत ए कश्मीर अभी बाकी है


गाय भैंस बन खा के भूसा
हज़म कर लिया चारा
लूट खसोट कर बिहार
कहते हैँ पेट अभी खाली है
अरे!..अरे...
रेलवे तो अभी बाकी है


कडी मेहनत बुलन्द हौसला कर
बन लिए विकासशील
विकसित हो अग्रिम पंक्ति में अब
खडॆ होने की तमन्ना अभी बाकी है


जीत के टवैंटी-टवैंटी
बटोर के सतही वाहावाही
अरे!...
वर्ल्ड कप के सपने छोडो
कंगारुओं पे जीत अभी काफी है


हैराँ परेशाँ न हो ए सलमान
संगीता सोमी...
ऐश को देख लिया तो क्या
कैटरीना की चाह अभी बाकी है


अमर संग कर के दर्शन
टेक के मत्था
पूरी हुई मुरादें सारी
अभी बस क्यों करते हो
बिग बी....
चार धाम तो अभी बाकी है


देखी मुलायम की मुलायमियत
मायावती की कसरें अभी बाकी है
भर-भर तिजोरियाँ
खोल दिए बेनामी खाते
कहते हैँ दोनों
देखो हमारे दोनों हाथ तो खाली हैँ


शायद....
आवाम में समझ अभी बाकी है
हाँ!....
आवाम में समझ अभी बाकी है


सीलिंग डिमालिशन कर
उजाड दिए घर-व्यापार
उफ!...शीला...
पैरिस बना दिल्ली सजा
खेल कराने की चाह अभी बाकी है


देख लिया सह लिया
टेलीफोन से नैट
ब्रॉडबैंड की चाह अभी बाकी है
पा लिया बहुत कुछ
सब कुछ पाने की चाह
अभी बाकी है


बहुत हो ली
ऐश ओ आराम भरी ज़िन्दगी
उठ ले बेटा राजीव
डॆली पैसैंजरी अभी बाकी है
क्या हुआ जो हिमालयन छूट गई
परेशाँ न हो
आठ चालीस की पैसैंजर अभी बाकी है

***राजीव तनेजा***

4 comments:

Dr.Parveen Chopra said...

तनेजा साहब, वाह भई वाह...आठ चालीस की पेसैंजर अभी बाकी है.....वास्तव ही में इस समय 8.38बजे हैं इसलिए टिप्पणी देने की मुझे ज्यादा जल्दी है। Keep it up !!
शुभकामनाएं

mamta said...

आपने तो पूरे साल का ब्योरा बड़ी ही खूबसूरती से दिया है।

बधाई !

sunita (shanoo) said...
This comment has been removed by the author.
sunita (shanoo) said...

क्या हुआ जो सबने कह दी
मेरी मुबारक बाद अभी बाकी है...:)

आपको नया साल बहुत बहुत मुबारक हो राजीव जी...

 
Copyright © 2009. हँसते रहो All Rights Reserved. | Post RSS | Comments RSS | Design maintain by: Shah Nawaz